in

कोरोना कर्फ्यू एक हफ्ते के ल‍ि‍ए और बढ़ा द‍िया गया

Lockdown extended in Uttar Pradesh
Lockdown extended in Uttar Pradesh

लखनऊ। अब यह सारे यह कर्फ्यू 31 मई सुबह सात बजे तक जारी रहेगा। सरकार प्रदेशवासियों के जीवन और जीविका को सुरक्षित रखने के लिए संकल्पित है। इसी भावना के साथ हमने कोविड की इस द्वितीय लहर में आंशिक कोरोना कर्फ्यू की नीति अपनाई है। प्रदेशव्यापी आंशिक कोरोना कर्फ्यू के सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहे हैं। संक्रमण की चेन तोड़ने में इससे आशातीत सहायता मिल रही है। प्रदेशवासियों की ओर से भी भरपूर सहयोग प्राप्त हो रहा है। एक्टिव केस लगातार कम हो रहे हैं। ऐसे में 31 मई की प्रातः 07 बजे तक आंशिक कोरोना कर्फ्यू को विस्तार दिए जाने का निर्णय लिया जा रहा है। वैक्सीनेशन, औद्योगिक गतिविधियों, मेडिकल सम्बन्धी कार्य आदि आवश्यक अनिवार्य सेवाएं यथावत जारी रहेंगी।

एक तारीख से यूपी के सभी जिलों में 18 वर्ष से ऊपर आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण

वैश्विक महाकारी कोरोना वायरस के सेकेंड स्ट्रेन पर अंकुश लगाने के साथ ही थर्ड स्ट्रेन को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने बड़ी तैयारी शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री ने इस तैयारी के क्रम में प्रदेश के सभी 75 जिलों में एक जून से टीकाकरण के अभियान को बढ़ाने का निर्देश दिया है। प्रदेश में एक जून से सभी जिलों में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जाएगी। जिलों में मीडिया तथा न्यायिक सेवा से जुड़े लोगों के लिए अलग से कैम्प की भी व्यवस्था की जा रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि एक जून से पूरे प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों का टीकाकारण किया जाएगा। इसको वृहद अभियान के रूप में लिया जा रहा है। हमारा प्रयास है कि प्रदेश का कोई भी नागरिक टीकाकरण से वंचित न रहे। सभी नागरिकों के लिए टीकाकरण की सुविधा की व्यवस्था की जा रही है।

प्रदेश में अभी तक 23 जिलों में ही 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को कोरोना वैक्सीन की सुविधा प्रदान की जा रही थी। अब इसको सभी जिलों तक बढ़ाया गया है। अभी तक इसके लाभ से वंचित रहे 52 जिलों के लोगों को भी लाभ मिलेगा।

प्रदेश सरकार ने चरणवार 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए कोरोना वैक्सीन का इंतजाम किया। पहले यह अभियान उन सात जिलों से शुरू किया गया, जहां पर सर्वाधिक एक्टिव केस थे। इसके बाद इसको बढ़ाकर 18 जिलों यानी मंडल मुख्यालय तक लाया गया। इसके बाद पांच और नगर निगम को जोड़कर 23 तक पहुंचाया गया।

Leave a Reply